सपा के गढ़ आजमगढ़ में सीएम मोहन यादव ने जोड़ा चार पीढ़ियों का नाता, बोले- राम मंदिर बनाकर पीएम ने देशवासियों का दिल जीता


Mohan Yadav in Azamgarh आजमगढ़ में मुख्यमंत्री डा. मोहन यादव ने आज मैं भले ही एक बड़े राज्य मध्य प्रदेश का मुख्यमंत्री हूं, लेकिन चार पीढ़ी पहले मेरे पूर्वज यहीं से मध्य प्रदेश गए थे। इसलिए आजमगढ़ और उत्तर प्रदेश से मेरा विशेष रिश्ता है।

By Neeraj Pandey

Publish Date: Tue, 13 Feb 2024 11:32 PM (IST)

Updated Date: Tue, 13 Feb 2024 11:32 PM (IST)

सपा के गढ़ आजमगढ़ में सीएम मोहन यादव ने जोड़ा चार पीढ़ियों का नाता, बोले- राम मंदिर बनाकर पीएम ने देशवासियों का दिल जीता

HighLights

  1. आजमगढ़ में सीएम मोहन यादव ने जोड़ा चार पीढ़ियों का नाता
  2. सीएम ने कहा – राम मंदिर बनाकर पीएम मोदी ने देशवासियों का दिल जीता

आजमगढ़ (ब्यूरो)। मुख्यमंत्री डा. मोहन यादव ने मंगलवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अयोध्या में राम मंदिर बनाकर पूरे देश का दिल जीत लिया है। आज उप्र विकास के क्षेत्र में पूरे देश का नेतृत्व कर रहा है। 100 करोड़ से अधिक देशवासियों के लिए पीएम मोदी सर्वमान्य चेहरा बन चुके हैं। इसलिए केंद्र में तीसरी बार मोदी सरकार ही बनेगी।

आजमगढ़ से 4 पीढ़ी पुराना नाता

सपा का गढ़ कहे जाने वाले आजमगढ़ के साथ अपने रिश्ते का उल्लेख करते हुए कहा कि आज मैं भले ही एक बड़े राज्य मध्य प्रदेश का मुख्यमंत्री हूं, लेकिन चार पीढ़ी पहले मेरे पूर्वज यहीं से मध्य प्रदेश गए थे। इसलिए आजमगढ़ और उत्तर प्रदेश से मेरा विशेष रिश्ता है। आज अपने कार्यकर्ताओं के बीच आकर बहुत आनंदित महसूस कर रहा हूं। आजमगढ़ क्लस्टर के अंर्तगत आने वाले पांच लोकसभा क्षेत्रों आजमगढ़, लालगंज, घो, बलिया और सलेमपुर के पार्टी पदाधिकारियों की बैठकों में शामिल होने के बाद वह पत्रकारों से बात कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि विधानसभा और लोकसभा दोनों में भाजपा का वोट प्रतिशत बढ़ा है। लोग भाजपा में शामिल होना चाहते हैं। इससे पहले भाजपा के अखिल भारतीय प्रवास के अंतर्गत तीन सत्रों में आजमगढ़, लालगंज, घोसी, बलिया व सलेमपुर लोकसभा क्षेत्र के पदाधिकारियों के साथ बैठकें कर आगामी लोकसभा चुनाव में जीत का मंत्र दिया। उन्होंने कहा कि भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने अलग-अलग नेताओं के लिए प्रवास कार्यक्रम बनाए हैं। इसी क्रम में मैं आजमगढ़ आया हूं।

भाजपा की उप्र में यादव वोटरों पर नजर

डा. मोहन यादव के जरिये भाजपा उप्र के यादव मतदाताओं को रिझाने में जुटी है। यही कारण है कि बिहार के बाद वह उप्र आए हैं और इसकी शुरुआत सपा का गढ़ माने जाने वाले आजमगढ़ से की है। भाजपा संदेश देना चाहती है कि पार्टी में सामान्य यादव परिवार के व्यक्ति को मुख्यमंत्री का पद दिया गया है और भाजपा के दरवाजे यादव समाज के लिए खुले हैं। भाजपा के इस प्रयास का असर आजमगढ़ क्लस्टर में शामिल पांचों लोकसभा सीटों पर पड़ेगा, क्योंकि यहां यादव मतदाताओं की संख्या काफी अधिक है।

पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव व पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव आजमगढ़ से सांसद रहे हैं। सपा से रमाकांत यादव भी यहां से सांसद रहे हैं, हालांकि रमाकांत 2009 में भाजपा से भी सांसद रहे हैं। 2022 में हुए उपचुनाव में सपा ने धमेंद्र यादव को मैदान में उतारा था, लेकिन भाजपा के दिनेश लाल यादव निरहुआ ने उन्हें हरा दिया था।

  • ABOUT THE AUTHOR

    पत्रकारिता के क्षेत्र में डेस्क और ग्राउंड पर 4 सालों से काम कर रहे हैं। अगस्त 2023 से नईदुनिया की डिजिटल टीम में बतौर सब एडिटर जुड़े हैं। इससे पहले ETV Bharat में एक साल कार्य किया। लोकसभा और उत्तर प्रदेश, मध्



Source link

About The Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.