Mamata Banerjee On Farmers Protest in Haryana Delhi Tmc Chief attacked BJP Narendra Modi government


Mamata Banerjee Attacked On BJP: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने हरियाणा में ‘दिल्ली कूच’ के लिए निकले प्रदर्शनकारी किसानों पर आंसू गैस के गोले दागने की मंगलवार (13 फरवरी) को निंदा की है. राज्य की सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल (TMC) की सुप्रीमो ममता बनर्जी ने इसे किसानों पर ‘बीजेपी का बर्बर हमला’ करार दिया.

हरियाणा पुलिस ने न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) पर कानून बनाने की मांग कर रहे किसानों के दिल्ली कूच करने के बीच अंबाला के पास शंभू में पंजाब से लगती सीमा पर आंसू गैस के गोले दागे. किसान जब पुलिस की ओर से लगाए गए अवरोधक तोड़ने की कोशिश कर रहे थे तब उन पर टियर गैस के‌ गोले छोड़े गए.

‘ऐसे कैसे तरक्की करेगा देश?’

इस मामले को लेकर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सोशल मीडिया मंच ‘एक्स’ पर कहा, “जब अपने मौलिक अधिकारों के लिए लड़ने पर किसानों पर आंसू गैस के गोलों से हमला किया जाएगा तो हमारा देश कैसे तरक्की कर सकता है? मैं बीजेपी द्वारा हमारे किसानों पर बर्बर हमले की कड़ी निंदा करती हूं.” उन्होंने कहा, “उनके विरोध को दबाने के बजाय, बीजेपी को अपने बढ़े हुए अहंकार, सत्ता की भूख की महत्वाकांक्षाओं और निष्‍प्रभावी शासन को कम करने पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए, जिसने हमारे देश को नुकसान पहुंचाया है.” 

क्यों बरपा है हंगामा?
न्यूज एजेंसी पीटीआई की रिपोर्ट के मुताबिक संयुक्त किसान मोर्चा (अराजनीतिक) और किसान मजदूर मोर्चा ने ऐलान किया है कि किसान अपनी मांगों के समर्थन में दिल्ली कूच करेंगे. न्यूनतम समर्थन मूल्य सहित अन्य मांगों पर सोमवार (12 फरवरी) को केंद्रीय मंत्रियों के साथ बैठक जब बेनतीजा रही तो किसानों ने मंगलवार को दिल्ली में प्रदर्शन के लिए मार्च करना शुरू कर दिया. किसानों के ‘दिल्ली चलो’ मार्च के मद्देनजर पुलिस ने शहर के सीमा बिंदुओं पर सुरक्षा के लिए कई चरणों में बैरिकेड लगाने के अलावा कंक्रीट ब्लॉक, लोहे की कीलें और कंटेनर की दीवारें खड़ी की हैं. जगह-जगह किसानों ने इसे पार करने की कोशिश की है, जिसकी वजह से पुलिस से तकरार हो रही है.

ये भी पढ़ें:Farmers Protest: ट्रैक्टर-ट्रॉली से दिल्ली की तरफ बढ़े किसान, पुलिस ने छोड़े आंसू गैस के गोले, बॉर्डर सील, जानें- 10 बड़ी बातें



Source link

About The Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.