MP News: श्योपुर से कोटा तक ब्रॉडगेज लाइन का चल रहा सर्वे और डीपीआर का काम, जल्द बिछेगी रेल लाइन


इसी लक्ष्य को ध्यान में रखते हुए रेलवे विभाग इस काम को अंजाम दे रहा है। फैक्ट फाइल-2010 में स्वीकृत हुआ ग्वालियर-श्योपुर-कोटा रेल प्रोजेक्ट- 2018-में शुरू हुआ प्रोजेक्ट का धरातल पर काम- 3597 करोड़ है पूरे प्रोजेक्ट की लागत- 200 किलोमीटर लंबाई ग्वालियर-श्योपुर ट्रेक की- 94 किलोमीटर लंबाई श्योपुर-कोटा नई लाइन की- 2024 के मार्च तक ग्वालियर से सबलगढ़ तक ट्रेन संचालन का लक्ष्य- 2025 के मार्च तक ग्वालियर से

By Paras Pandey

Publish Date: Wed, 14 Feb 2024 01:02 AM (IST)

Updated Date: Wed, 14 Feb 2024 01:02 AM (IST)

MP News: श्योपुर से कोटा तक ब्रॉडगेज लाइन का चल रहा सर्वे और डीपीआर का काम, जल्द बिछेगी रेल लाइन
ग्वालियर से श्योपुर तक चल रहा ब्रॉडगेज रेल लाइन का काम।

श्योपुर, (नईदुनिया प्रतिनिधि)। श्योपुर से ग्वालियर ब्रॉडगेज रेलवे लाइन बिछाने का काम तेजी से चल रहा है। वहीं श्योपुर से राजस्थान के दीगोद रेलवे स्टेशन तक भी रेलवे लाइन बिछाने का काम जल्द शुरू होने वाला है। ग्वालियर श्योपुर आमान परिवर्तन कोटा तक विस्तारीकरण सहित के लिए 500 करोड़ रुपये आवंटित किए गए है।

हालांकि अभी श्योपुर से दीगोद कोटा नई रेल लाइन विस्तारीकरण के लिए सर्वे और डीपीआर का काम चल रहा है। लेकिन अब जल्द ही इस नई रेलवे लाइन का भी धरातल पर काम जल्द शुरू हो जाएगा।

बता दें कि, पश्चिम मध्य रेलवे ने नवीन रेल लाइन के लिए ड्रोन सर्वे शुरू कर लिया है। ग्वालियर-श्योपुर-कोटा रेल लाइन प्रोजेक्ट में श्योपुर से दीगोद कोटा तक रेल लाइन बिछाने का काम के लिए अभी डीपीआर बनाने का काम चल रहा है।

श्योपुर से दीगोद कोटा तक जोड़ने वाली नई रेल लाइन की लंबाई 94 किलोमीटर होगी और इसमें 8 स्टेशन बनाए जाएंगे। जिसमें श्योपुर के स्टेशन के बाद कानपुर और खेड़ा दो स्टेशन श्योपुर जिले की सीमा में बनेंगे, जबकि पीपल्दा, गणेशगंज, दौलतपुर, बड़ौदा, सुल्तानपुर और उम्मेदपुरा स्टेशन राजस्थान की सीमा में बनाए जाएंगे।

विभागीय अधिकारियों के अनुसार इस परियोजना की डीपीआर बनाकर रेलवे प्रबंधन को सबमिट कर दी जाएगी।श्योपुर- ग्वालियर के बीच काम में आई तेजी ग्वालियर-श्योपुर ब्रॉडगेज प्रोजेक्ट का काम भी तेज गति से चल रहा है। वर्तमान में जिले की सीमा में भी काम ने गति पकड़ ली है।

लगभग 200 किलोमीटर लंबे इस ट्रैक पर मार्च 2025 तक ट्रेन करने की चलने की बात कही जा रही है। हालांकि वर्ष 2010 में ग्वालियर-श्योपुर ब्राडगेज प्रोजेक्ट को मंजूरी दे दी गई थी, लेकिन वर्ष 2018 में इसका काम धरातल पर शुरू हुआ है। इस प्रोजेक्ट के तहत ग्वालियर से श्योपुर तक नैरोगेज रेल लाइन का गेज परिवर्तन कर ब्रॉडगेज लाइन बिछाई जानी है।

बताया गया है कि ग्वालियर से श्योपुर गेज परिवर्तन और श्योपुर से दीगोद (कोटा) नई रेल लाइन प्रोजेक्ट की कुल स्वीकृति लागत 3597 करोड़ 15 हजार रुपये की है। 2025 तक श्योपुर तक शुरू होगी ट्रेन श्योपुर-ग्वालियर रेलवे लाइन पर बड़ी ट्रेन का संचालन ग्वालियर से सुमावली तक हो रहा है। बताया गया है कि मार्च 2024 तक इस ट्रेन का संचालन सबलगढ़ तक शुरू होने की उम्मीद है। जबकि मार्च 2025 तक ट्रेन का संचालन श्योपुर तक शुरू करने का लक्ष्य है।

इसी लक्ष्य को ध्यान में रखते हुए रेलवे विभाग इस काम को अंजाम दे रहा है। फैक्ट फाइल-2010 में स्वीकृत हुआ ग्वालियर-श्योपुर-कोटा रेल प्रोजेक्ट- 2018-में शुरू हुआ प्रोजेक्ट का धरातल पर काम- 3597 करोड़ है पूरे प्रोजेक्ट की लागत- 200 किलोमीटर लंबाई ग्वालियर-श्योपुर ट्रेक की- 94 किलोमीटर लंबाई श्योपुर-कोटा नई लाइन की- 2024 के मार्च तक ग्वालियर से सबलगढ़ तक ट्रेन संचालन का लक्ष्य- 2025 के मार्च तक ग्वालियर से श्योपुर तक रेल चलाने का लक्ष्य।



Source link

About The Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.